ॐ त्रियम्बकं यजामहे, सुगन्धिं पुष्टिवर्धनं उर्वारुकमिव बन्धनान् मृत्योर्मोक्षिय मामृतात्

शत चंडी अनुष्ठान


From: 03/05/2016  To:11/05/2016

  •  इस अनुष्ठान के द्वारा सभी मनोकामना पूर्ण होती है । इसमे नव दुर्गा की पूजा होती है। इस अनुष्ठान में माताजी को विशेष हवन सामग्री अर्पण की जाती है। 

image